सिंधिया समर्थक के स्वागत वाले पोस्टर से विधायक रमेश मेंदोला और भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय गायब

0

भाजपा नेता मोहन सेंगर के विज्ञापन में भाजपा महासचिव विजयवर्गीय और विधायक मेंदोला को जगह नहीं मिली, 2018 के विधानसभा चुनाव में भाजपा के रमेश मेंदोला ने कांग्रेस के मोहन सेंगर को 70331 वोटों से हराया था।

ज्योतिरादित्य सिंधिया के इंदौर आने को लेकर उनके समर्थकों में भारी उत्साह है। वह अपना उत्साह होर्डिंग, विज्ञापन और बैनर के जरिए दिखा भी रहे हैं, लेकिन एक ऐसे ही विज्ञापन और पोस्टर ने इंदौर में राजनीतिक दर्शन भी करवा दिए हैं। 2 नंबर भाजपा का गढ़ कहा जाता है। लेकिन कांग्रेस से भाजपा में आए सिंधिया के समर्थक और नेता मोहन सेंगर द्वारा स्वागत में दिए गए विज्ञापन और लगाए गए पोस्टर में भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय और विधायक रमेश मेंदोला नदारद हैं। इसे लेकर अब राजनीतिक गलियारों में चर्चा तेज हो गई है कि भाजपा में तो आ गए, लेकिन अभी दिल मिलना बाकी है।

इस विज्ञापन में भी दो नबंर के ये कद्दावर नेता गायब हैं।

इंदौर विधानसभा क्रमांक – 2 भाजपा नेताओं के नाम से जाना जाता है। भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय और विधायक रमेश मेंदोला के प्रति लोगों की जमकर दीवानगी है। वहीं, पिछले चुनाव में कांग्रेस को कुछ हद तक इस क्षेत्र में जीवित करने वाले सिंधिया समर्थक नेता मोहन सेंगर अब भाजपा में आ चुके हैं। सिंधिया की यात्रा को लेकर उनके द्वारा दिया गया एक विज्ञापन दो नंबरियों को बिल्कुल पसंद नहीं आया है। इसमें भाजपा के करीब-करीब सभी दिग्गज नेताओं के फोटो लगे हैं, लेकिन क्षेत्र के ही दो कद्दावर नेता कैलाश विजयवर्गीय और विधायक रमेश मेंदोला इसमें से गायब हैं। राजनीतिक गलियारों में यह चर्चा चल निकली है कि जब खुद सिंधिया विधायक मेंदोला और िवजयवर्गीय से मिलने आ रहे हैं तो फिर मोहन सेंगर द्वारा उनकी नजरअंदाजी क्यों…।

Leave a Reply