जिम और योग क्लास खोलने के लिए आयी नई गाइडलाइन, सेतु एप अनिवार्य

अधिकारियों के निरीक्षण के दौरान संख्या से अधिक लोग मिले तो जिम को अधिकतम 15 दिन के लिए बंद करवा सकते हैं।

राजधानी में जिम और योग क्लास काे खाेलने के लिए जिला प्रशासन ने मंगलवार को एसओपी जारी कर दी। जिम में फ्लोर एरिया के हिसाब से व्यक्तियों को प्रवेश दिया जाएगा। प्रति व्यक्ति चार वर्ग मीटर का क्षेत्र आरक्षित रहेगा। यानी जिम संचालक अपने फ्लोर एरिया को इस तरह बांटेंगे कि प्रति व्यक्ति को चार स्क्वायर मीटर का स्पेस मिले। उन्हें प्रशासन को यह जानकारी देना होगी कि उनके यहां कितना फ्लोर स्पेस है और कितने लोग एक स्लॉट में आ सकते हैं। अगर अधिकारियों के निरीक्षण के दौरान संख्या से अधिक लोग मिले तो जिम को अधिकतम 15 दिन के लिए बंद करवा सकते हैं। जिला प्रशासन ने एसओपी के मुुताबिक स्व घोषणा पत्र का प्रारूप जारी किया है। इसे एसडीएम कार्यालय काे प्रस्तुत करना होगा और पावती लेने के बाद जिम का संचालन शुरू किया जा सकेगा। जिम में आने वालों को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना अनिवार्य रहेगा। इसकी जिम्मेदारी भी जिम संचालक की होगी कि प्रति व्यक्ति के लिए तय किए गए क्षेत्र के हिसाब से ही प्रवेश सुनिश्चित हाे।

सांस लेने में तकलीफ हो तो तुरंत दें जानकारी

  • एंट्री पर सैनिटाइजर डिस्पेंसर, थर्मल स्क्रीनिंग की व्यवस्था हो।
  • अगर किसी का ऑक्सीजन लेवल 95 प्रतिशत से कम होता है। उसे सांस लेने में कोई तकलीफ होती है तो उसे तुरंत रोकना होगा। इस दौरान स्टेट हेल्प लाइन में भी जानकारी देना होगी।
  • जिम में मशीनों के बीच दूरी कम से कम छह फीट होना चाहिए। जिम में अगर आउटडोर स्पेस उपलब्ध है तो वहां भी मशीनों को लगाया जा सकता है।
  • जिम परिसर में भीड़ एकत्रित नहीं होना चाहिए। जाने के लिए लगने वाली लाइन का मैनेजमेंट इस तरह किया जाएगा कि दो व्यक्तियों में कम से कम छह फीट की दूरी हो।
  • {जिम परिसर के एंट्री रूम में डिसइंफेक्शन होना चाहिए।
  • मेंबर्स वर्कआउट के लिए अलग से जूते लाएं। जिम की मशीनों काे सैनिटाइज किया जाए।

आरोग्य सेतु एप अनिवार्य…

जिम में मशीनों के हैंडल, बैंच का उपयोग बार-बार होता है। इसे हर वक्त सैनिटाइज करें। इसी तरह एक्सरसाइज के सेशन के बीच में फ्लोर की सफाई होना चाहिए। फेस कवर, मास्क आदि के निष्पादन की पर्याप्त व्यवस्था होना चाहिए। जिम आने वालों को आरोग्य सेतु एप और सैनिटाइजर का उपयोग करना होगा।

Leave a Reply