“काँग्रेस विधायक जीतू पटवारी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में शिवराज सरकार को आड़े हाथों लिया”

“काँग्रेस पार्टी तैयार है बताइए कहाँ तर्कसंगत चर्चा करनी है – जीतू पटवारी”

काँग्रेस विधायक जीतू पटवारी ने गुरुवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की जिसमें उन्होंने शिवराज सरकार से कई सवाल किए। उन्होंने कहा – कृषि ऋण माफ़ी योजना कमलनाथ सरकार का एक महत्वाकांक्षी कदम था। सरकार किसान की मदद करना चाहती थी। उन्हें सम्मान से जीना सिखाना चाहती थी और उसको लेकर लगभग 25 लाख किसानों का ऋण माफ़ किया। लेकिन उस पर अगर पीछे के दरवाज़े से बैठी हुई सरकार, धक्का देकर बनाई हुई सरकार प्रश्नचिन्ह खड़ा करती है, मुख्यमंत्री प्रश्नचिन्ह खड़ा करते हैं तो मैं उन्हें चुनौती देता हूँ।

“मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान आप जब चाहो, जहाँ चाहो, जिस मंच पर चाहो, टेलीविजन की डिबेट पर चाहो, जब आप समय दें तब, पब्लिक डोमेन में जहाँ आप कहें, किसानों की कर्ज़माफी को लेकर कांग्रेस सरकार तर्कसंगत चर्चा के लिए तैयार है।”

पटवारी ने राज्य सरकार पर मंत्रिमंडल के विस्तार को लेकर सवाल उठाते हुए कहा कि संविधान को ठेंगा दिखाकर अपने लालच के लिए संख्या से अधिक मंत्री बनाए गए हैं। इस मुद्दे को हम विधानसभा में भी उठाएंगे।

काँग्रेस नेता ने यूपी के अपराधी विकास दुबे की गिरफ्तारी और एनकाउंटर पर भी सवाल उठाया। पटवारी ने कहा कि विकास दुबे की गिरफ्तारी कर राज्य सरकार ने डाकिए का काम किया है। साथ ही एनकाउंटर को लेकर उन्होंने कहा कि अगर गाड़ी नहीं पलटी तो क्या कुर्सियां उलट जाती ?

उन्होंने कहा कि प्रदेश में 10 दिन बाद बजट सत्र होना है। ऐसे में सवाल उठता है कि बिना वित्त मंत्री के बजट कौन जारी करेगा। प्रदेश के 24 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव होने हैं। इसको लेकर पटवारी ने कहा कि विधानसभा उपचुनावों में कांग्रेस जीतेगी और सत्ता में कमलनाथ की वापसी होगी।

Leave a Reply